Posts

Showing posts from October, 2016

Kejriwal is obsessed with spreading lies and making fools of Indian Voters Written by Gauri

Kejriwal is obsessed with spreading lies and making fools of Indian Voters   Written by Gauri    I am shocked why Indian Media and Indian government are so soft with this most loud mouth Arvind Kejriwal. Are Indian Voters are that naive to believe this man Arvind Kejriwal.  I don’t know him personally. I just heard from the mouth of horse himself that he has heard? He has heard while Judges talking? Did he confirm with those Judges?  So don’t blame me that I hate him. Don’t tell I am anti Gaddar Kejriwal.  He openly admitted that his eaves dropped the conversation of Judges?  Do Media and People of India as NRI in USA don’t know its criminal when you eavesdropping or overhead someone conversation then use them to defame them. Did he asked the judged and clarify the judges?  Did he taken permission from judges that he can abuse his political power to expose the government? Is their evidence against Central Government? Every other day he had been accusing people of Modi Cabinet and Ce…

शर्म आती है देश के गद्दारो के कर्म पर ( (गौरी)

शर्म आती है देश के गद्दारो के कर्म पर 

भारत में रहने वाले मेरे भाई बहनों  मुझे आज  दुःख आता  है, दया  आती  है उन नेताओं  की संतान  पर और आने वाली नस्ल पर जिनका प्रभाव  देश द्रोही , गद्दार केजरीवाल , संजय निरुपम  जैसे इन्सानो के तले जनम हुआ है।  न तो मैं  गद्दार केजरीवाल को व्यकितगत रूप से जानती हुं न ही मैं  संजय  निरुपम को जानती हुं।  न ही मेरा कोई रिश्ता ऐसे गद्दारो से है।  न मैं बी जे पी हुं न ही मैं  कांग्रेस।  मेरा जो भी रिश्ता है वह मेरे जन्म का रिश्ता है। न ही मैं  राजनीति में हूँ?   मैं अपने भारत  की माटी  की एक धुल हूं।  वह धूल मेरा सिन्दूर हैं।  मेरे माथे का तिलक है।   अफ़सोस इस बात  का है जो  सैनिकों को सबुत देने के लिये , सरकार को सबुत देने के लिये , अपनी प्रसिद्धि के लिये , मीडिया में अपना मनहुस चेहरा दिखाने  के लिये , दुश्मन देश में हीरो बनने के लिये , अपने जन्म भूमि को बदनाम करते है।  क्या उनको देश की सिक्योरिटी का ध्यान नहीं आता ?  उनकी नसल , उनकी औलाद वही  सीखेंगी जो वह सीखा  रहे है। इस पर मुझे अपने पापा  की बात याद आती है  जो एक भारत के सिपाही थे।  जब वह अमेरिका आये तो…