Friday, January 22, 2016

Pm of India another King of Korea King Jeongjo a ruler of Joseon Dynasty??. Written by Kamlesh Chauhan (Gauri)

Pm of India another King of Korea King Jeongjo a ruler of Joseon Dynasty??.Written by Kamlesh Chauhan (Gauri)
 

In 2013, I went to go see Modi ji who was Chief Ministers of Gujrat. Modi is a very good close friend of my good American activist, Author Richard Benkin and NRI activist Harish Dhruv whom I know for long time. I also remember when Modi ji came to USA a simple man wearing Khaddar Kurta Pajama with Jhola (Bag) hanging on his right shoulders. At that time he was ambitious activist who wanted to develop India and have high dreams to make India Shinning in the world.
Its irony that some mischievous people Burned Godhra Train with  innocent Live Hindus men, Women and Children while Modi ji was just elected  Chief Minister who was not well aware of anything yet. There is Cause and there is an effect that what Gujrat riots all about is. Sadly Congress can’t take defeat graciously. When Modi ji requested a Para-military  when people of  Gujrat  reacted same way  after finding out the live burning  of Hindus women , Men and Children , They started the riots  or opposition played this mischief no one knows, However  Center in Delhi dint send the help by sending the Paramilitary to control the  Riots.
Same time there were some Gujrati Muslims who were coming back from Haz and Modi ji dint let them come them in the city so they can be safe . Finally when Paramilitary Forces came after the damaged was done, Gujrat riots were controlled. Since then Opposition Parties are pointing fingers to Modi and defame him on the international platform. Such a shame Greedy, Selfish and the enemy of India have maligned such a bright man in such lowest way.
Same way King of Korea named Jeongjo who was a ruler of Joseon Dynasty of Korea has suffered the same thing in Korea 1776-1800. Same Mess with the Palace even his own kith and kind were conspiring against him.  Before he was crowned his nation was in disorder just like India before when Modi became PM of India. Every other day terrorists in Kashmir was beheading our Soldiers and Sonia Gandhi was not taking any actions against Pakistan as well made Army a Prisoners not to take action against Pakistan as well mischievous China.
 Before King Jeongjo crowned   rule was in disorder as his father was killed by royal decree of his own father, King Jeongjo's grandfather. Just like Modi ji His father was honest and dint do any wrong and King Jeongjo tried to clean his honest father name from the dark age and he could not due it. At the time He was Crowned King he made a very bold statement when he said “the King of Joseon, he sat on his throne in the throne room and looked at everyone and said, "I am the son of the Crown Sada Prince ..."
Just like Modi ji every time he make any bold statement about developing India, Indian Media which is the worst media in the world  twist his statement  as well  Greedy, Unpatriotic opposition Parties go in shiver and mislead the whole nation. Just like King Jeongo who tried to take care of the whole Politics of the whole nation as well get over many tribulation  in his life. I have faith in Modi ji he will do the same. People who are making so many hindrance for him over every little step will be discarded by their own people. Amazing part is Our Congress party as well other opposition parties are playing the same card by asking help from terror Nation Pakistan? When Terror attack taken place in Pathankot our oppositions were so silent and when terror attack happen in Pakistan they show solidarity?  People of India, Voter of India shall question the Congress and others “Are you with the terror nation or with your own nation? Which Nation is more important to you? India or Pakistan? When Saniya Mirza married to Pakistani man, she is still Indian and making money for her Pakistani husband but when Rajiv married to Sonia Gandhi, She is Indian and Saniya Mirza is not Pakistani??

Note:  I learned about King Jeongjo of Korea by watching Yi San a real Drama based on true story. Then I did lot search on him.  Every time I see Obsessive Compulsive man  Kejriwal who does not utter any word on the TV and News Media without accusing and blaming PM of India  This drama Yi San and True History of King Jeongjo if Korea come in my Mind . What a shame Voters can see what How oppositions are harming India.



 






Saturday, January 16, 2016

Silent tears of my dad written by: Kamlesh Chauhan ( Gauri)

Silent tears of my dad
Copyright@Memoires Journey 

Kamlesh Chauhan(Gauri)

Flawless pious radiance on your face
Remind me those days when you use to laugh
Whilst during the journey of your Karma
I sit  by your bed, Watch pure soul God

Blessed us as my tiny body use to dance in your lap 
Those were the days when small feet
learn how to walk from your hand

Every time  I recall childhood memoirs big beam
Come on my face
Youth arrived on my door childhood
Seems to fade


I mature young girl with words of ethics, Integrity
was gifted to my mind and heart
All your Children honored you, abide by you, Disobeyed
You and Rebelled 

My Divine Papa , your love insight stay with us 
In return you had no expectations 
You were a man of  smile and Patience
You were my aspirations 

2

Each one blunder in life , My father you have no errors in my eyes 
You shower smile and hilarity whoever
Walk in your life 

My father , Innocent father of mine ,The most dearest Dad of mine
You wrapped in cotton wool all you children

Each one was shielded under the umbrella of your love..

Then why the world beleaguered you, tormented you?
why world is so callous to such pure soul like you

Tiny little voice in your heart is sobbing 
While your  radiant face is smiling 
Divine light is shimmering 


Today its my turn to bring you back to my world
Today its my duty to help you how to crawl and walk
Today its my turn to bring to clean your silent tears
Today its my turn to shut the doors of cruel friend and foes

My dad my loving dad dont be sad,
This world is gone mad 

You are leaving a legacy of love of fatherhood
Those who cause pain in your life will be forgiven 
Because your soul never seek revenge
Your silent tears seek forgiveness for all human being

This was my expression  at the time the last Karma of my dad. When he was leaving us to join heavenly Lord. Even its is Prose and Poem as well however I like it the way I felt at that time . This expression of my love for my dad was reciting by one of my Work Manager in front of his  whole team  to those associate who were working for his Department . His name is Pat Rally . This Poem was also printed in one of my friends magazine South Asia without telling me. Thanks Jinnder Chohaan  and Pat Rally. Feel free to give your Views on this expression of my thoughts. I love my Dad . He is always my Guide my pride. ( Gauri ) 




Thursday, January 14, 2016

एक तन्हा सा लम्हा : लेखिका कमलेश चौहान (गौरी )

एक  तन्हा सा लम्हा :  लेखिका कमलेश चौहान (गौरी )

गहरे सागर  की तरह थामकर खामोशियो का आँचल  ऐ  दिल  तू बहता  जा ,
डूबकर  गहराइयो के पर्दो में   छुपा कर  दरदे - दिल  को यु  गुन गनाता  जा। 

भूले से ज़ाहिर न कर देना  क्यों बेवज़ह  तन्हा दिल रात दिन  उदास रहता है ,
पुछे कोई वज़ह  जब  उदासियों की यू ही हसकर  ज़माने को भरमाता   जा। 

मत कहना भूले  से भी  , रिवाजों की तंग गलियों में , खो गया था तेरा प्यार 
 उमर की लकीरों में कोई दिलदार ही न मिला , हर सवाल  को टालता  जा। 

दिनभर लगा कहकहे , तन्हाईयो की काली रात में खामोश ऑंसू बहा लेना ,
दो कदमो की आहट हो जब दुनिया वालो की , यकदम आँसू पोछता जा। 

ज़िन्दगी के ऐसे  मोड़ पर   करके झूठे वादे   इस कदर  हर दोस्त रुस्वा हो गया ,
 ऐ मेरे बिछड़ने वालों करू कैसे बयान अब हमारा तो हर लम्हा तनहा हो गया। 


"मेरे आलोचक मेरे दर्शक है।  कृपया  आप हमारी सादगी भरी कलम की लेखनी की आलोचना कर सकते  है। "

Please do not manipulate, exploit any thought of this poem , In any form of this poem. Legal action will be taken . Copy right@ Kamlesh Chauhan (Gauri) 








Sunday, January 10, 2016

हम विक्रम बदौरिया जी के बहुत धन्यवाद करते है । जिन्होंने हमारे सात जनम के बाद भाग पहला तथा दूसरे भाग के लिए हमारे उपन्यास की समीक्षा की. .

हम विक्रम बदौरिया जी के बहुत धन्यवाद करते है ।  जिन्होंने हमारे  सात जनम के बाद भाग पहला तथा दूसरे भाग के लिए हमारे उपन्यास की समीक्षा की. . 

कमलेश चौहान “गौरी" भारत के कश्मीर में जन्मी, पंजाब व लखनऊ और फिर इंदौर में पली बढ़ी, यह यूनानी संगमरमर की प्रतिमा सी छवि लिये सरल ह्रदया लेखिका कमलेश चौहान “गौरी" सत्तर के दशक में “ सात फेरों " के फेर में पड़ी और “सात समंदर पार " कर अमेरिका जा पहुँची .....जहाँ समय के उदधि में अन्यमनस्क सी तैरती , लहरों के थपेड़े खाती शैवाल सी  ,यह “head of the class "       की सिने तारिका “ आम्बी दा बूटा " और “ अनारकली " के नाट्य मंचों पर अपनी अभिनय प्रतिभा का आलोक विखेरती  यह नाट्य कला प्रवीणा अभिनेत्री , व नारी ह्रदय की कुशल चितेरी विदुषी महिला  आज एक लब्ध प्रतिष्ठ उपन्यासकारा ही नहीं वल्कि नारी ह्रदय की जलन पर शब्दों का मरहम लगाती  एक ख़ूब सूरत भावुक ह्रदया कवियत्री भी है ।
यही कारण है कि कमलेश चौहान “ गौरी " के उपन्यास लेखन की काव्य मय शैली वांगला भाषा के कालजयी व मूर्धन्य उपन्यासकार शरत चन्द्र व वंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय की कवित्व मय लेखन शैली की वरबस याद दिलाती है, जहाँ  उपन्यास कार का कवि ह्रदय अपने पात्रों के साथ उनके दु:ख में और उनके सुखों के साथ भी वार वार गा उठता है ,, लेकिन जहाँ शरत चन्द्र की नायिकायें उनके गरिमा मयी भव्य व्यक्तित्व और आदर्शों से महिमा मण्डित हैं , वहीं कमलेश चौहान के उपन्यासों की नायिका एक आम  स्त्री है जो समय के समंदर में लहरों के थपेड़े खाती शैवार सी वहती रहती हैं पर उसकी उत्कट जिजीविषा उसे डूबने नहीं देती , मरने भी नहीं देती । वह घोर संकट के समय में भी , भीगी पलकों के साथ भी गा उठतीं है , सतायें जाने की पराकाष्ठा होने के बाद भी वह त्याग मयी क्षमा की प्रतिमूर्ति बनी रहतीं ह और आतताई को अंततः क्षमा कर देती है ।
    कमलेश चौहान “ ग़ौरी" का प्रथम उपन्यास “ सात समुन्दर पार " । जो उन्होंने मुझसे छुपा कर गुप चुप लिखा था  , कुछ वहका वहका सा अन्दाज़ लिये हुये है , पर दूसरा उपन्यास “ सात फेरों से धोखा " के फ़ुट नोट्स वह मुझे बराबर भेजतीं रहीं ,यह उनका सौजन्य और मेरा सोभाग्य था कि मुझे उनके इस महान उपन्यास की प्रथम प्रतिकृति के अवगाहन का अवसर मिल सका ।
“ सात फेरों से धोखा "  पारिवारिक हिंसा  की पृष्ठभूमि पर हिन्दी व अँग्रेजी में लिखा गया एक अप्रतिम और एक ऐसा उपन्यास है जिसे भारत व अमेरिका के हिन्दी व अँग्रेजी व समाज शास्त्र विषयों की उच्च कक्षाओं के पाठ्य क्रमों में एक शोध प्रवंध की तरह  शुमार किया जा सकता है
    आज की इस लब्ध प्रतिष्ठ उपन्यासकारा प्रवासी पँछी का लिखा यह तीसरा उपन्यास “ सात जन्मों के बाद " को पढ़ने का सौभाग्य मिला  यह एक सच्ची पुनर्जन्म की घटनाओं पर आधारित प्रेम गाथा का वहुत ही रोचक ढ़ग से बुने गये ताने लाने का कथा प्रवाह है जो आदि से  अंत तक पाठक को बाँधे रहता है । उपन्यास के कथानक पर अमरीकी वर्णनात्मक शैली व भारतीय यात्रा वृतांत पद्धति के ख़ूबसूरत मिश्रण के साथ राजपूताना लाइफ़ स्टाइल  की “ केशर कस्तूरी " शराब का नशा लेखिका और पाठक दोनों के सर पर चढ़ कर बोलता है ...........!
यह नशा और गाढ़ा होकर लेखिका की क़लम को शोहरत की स्याही से सराबोर करता रहे यही कामना है ।  एवमस्तु  । इति ।


Saturday, January 9, 2016

एक एन आर अपने वतन की याद में खूब रोईं। शहीदों के शहीदी पर तड़पती गौरी लेखिका गौरी

कई बार सोचती हु   जो कुछ लोग मुझे एन आर कह कर , विदेशी कह कर मुझ पर तनस कस्ते है   कि मैं पैसे के लालच में विदेश आ गयी(  जब की युवा अवस्था में ही मेरा बिना पुछे मेरे माँ बाप ने  मेरा विवाह कियाएक  भारती एन आर आई के साथ   और मुझे विदेश भेजा मैंने नही उन्हें कहा था की मै विदेश जाना चाहती हु)  और अकसर  भारत के रहने वाले  मुझपर तंस कस्ते है कि मेरा अधिकार नही भारत के बारे अच्छा बुरा कहने का। कई इन्सानो ने तो मुझे यहां तक कहा की गद्दार केजरीवाल मुझे अमेरिका में भी गिरफ्तार करवा सकते है।  अच्छा तो गद्दार केजरीवाल ने अपने पिल्लै विदेश में भी छोड़ रखे है? जब से मोदी जी का नाम भारत में  उत्पन हुआ  तब से कांग्रेस   और गद्दार केजरीवाल  खुद आये दिन भारत के पी  एम  को गली देते रहते है।  क्या इनका मुहं बंद करने वाला वाला कोई नहीं ? यह तो सी एम का पद को नहीं संभाल   सकता , यह देश को काया संभाल पायेंगा। यह साफ़ ज़ाहिर है की  यह देश के खिलाफ षड्यंत्र रच रहा है ?  खैर मैं इसकी  गीदड़ धमकियों से नहीं डरती। मेरे नसीब में जो लिखा है उसको कोई टाल नहीं सकता। लेकिन इन नेताओं की उन  लोगो की ऐसी बाते मुझे भी सत्य कहने से और वही भद्दे शब्द कहने पर मजबूर कर देते  है। चाहे मैं अपने आप को कितना भी रोक लू। मै भी एक इन्सान हु देवी नही हु. अब सवाल पैदा होता है , क्या एक बच्चा अपनी माँ से बिछड़ कर अपनी माँ के बारे सोच नहीं सकता ? क्या मैंने जिस माटी पर मैंने जन्म लिया है उसके दुःख और दर्द और ख़ुशी के बारे कोई विचार नहीं दे सकती ? आज ही मैंने सुबह संजीव कोहली जो बॉलीवुड के एक बहुत ही माने हुवै संगीतकार है उन्होंने अपने स्टेटस बताया है कि गद्दार केजरीवाल ( मेरे लिए वह गद्दार के इलावा कुछ नहीं है ) ने अमिताभ बच्चन जी को मशवरा दिया की वह इंडिया को इंडिया इनक्रेडिबल के अम्बेस्डर की उपाधि को अस्वीकार कर दे ? उस मुर्ख सी एम को क्या तकलीफ है ? जो चला है घटिया नेता अपनी बुरी नज़र से हमारे  अमित जी को सलाह देने ? अब यह दिल्ली के सी।एम से अमिताभ जी का सलाहकर हो गया? सूरत देखी है इसने अपनी आईने में ? यह अपनी इस सूरत से सी एम  भले बन गया हो लगता है यह बॉलीवुड  में अपने आप को हीरो समझने लगा है। इसके पास और इसके विश्वास कुमार तथा मनीश  सिसोदिया  के पास मूवी देखने के सिवाये  कोई और काम काज है या नहीं ? मोदी जी काम में जुटे हुए है और यह  भद्दी भाषा में उन्हें गिराने  तुला हुवा है  गद्दार केजरीवाल।   एक मोदी जी है जो जवानो को अक्सर देखने जाते है उनके साथ बैठते है उठते है।  इस दिल्ली के घटिया सी एम ने  अपने परिवार के साथ दिवाली मनाई और उधर मोदी जी ने सेना के सैनिको के साथ। आज तक इसने हमारी सेना के जवानों और शहीदो के बारे कोई एक शब्द भी नही बोला ?  शर्म नहीं आती इस गद्दार को ? आप सब मोदी को तो शरेआम गाली देते हो और हम अपने बिछड़े चमन के लिये एक आंसू भी न बहाये ? मेरे लिए गद्दार केजरीवाल के साथ साथ फिरंगी लवर लुटेरी कॉंग्रेस् के सदस्य भी उतने ही बुरे है जितना गद्दार केजरीवाल। मनी अय्यर शंकर , सलमान खुर्शीद पाकिस्तान के किस आतंकी सस्था से मिले, क्यों मिले ? किस शय से मिले ? किसके कहने पर एयर बेस वालो ने अतनवादीओ को शेयर आम आने दिया।  कही इसमें मोदी विरोधी नेतायों का हाथ तो नहीं ?  मोदी सरकार ने अभी तक उनकी करवाई क्यों नहीं की ? मोदी सरकार को इन सब लोगो की करवाई करनी होंगी ?  राहुल और सोनिया का अभी तक जवानों की वीरता और शहीदों के लिए दो शब्द भी मुहं से नहीं फूटे ? जब भी देश में आपत्ति आती है यह राहुल और राहुल की अम्मा कहा चले जाते है ?  राहुल कहाँ  था जब देश में आक्रमण हुवा था ? हा अभी पाकिस्तान पर हमला नहीं हो सकता लेकिन भारत को अब तैयारी करनी होगी लेकिन गद्दार केजरीवाल के होते बहुत कठिन है कियोंकि गद्दार केजरीवाल ने स्वयं  ट्वीट कर के कहा है वह सईद का पक्का दोस्त है। सय्यद इसका दोस्त कैसे बना यह कब और कयों उससे मिला था ? साफ़ ज़ाहिर है अतनवादीओ के हमले हमारे देश के नेता ही करवा रहे है सिर्फ मोदी जी को बदनाम करने के लिए और देश को बर्बाद करने के लिए। कृपया मई एक साधारण इन्सान हु।  आप शायद मेरी बातो को तवज़्ज़ो ना देते होंगे। लेकिन अपनी सुरक्षा के लिए आपको यह सोचना होगा।   अब आप  मेरे अपशब्दों को माफ़ कर देना। कभी कभी आत्मा को बहुत दुःख होता है जिस तरह से हमारे देश में देशभग्त कम है देश द्रोही ज्यादा।  आज कांग्रेस का एक एक हिन्दू  हिन्दू विरोधी है।  आज आम पार्टी का एक एक हिन्दू  ही हिन्दू विरोधी है।  मोदी सरकार को  आप पार्टी के अंदर छिपे हुए  अतनवादीओ की कारवाही करनी होगी। आज कल विदेश में भी सिख भाइयों के दिलो में हिन्दुवो के बारे घृणा पैदा की जा रही है। ऐसे षडयंत्रो के पीछे कौन है ? कभी  आप लोगो ने सोचा  ? मै तो सिख भी हु हिन्दू भी हु और इन्सान भी. ईश्वर अल्लाह नूर पाया कुदरत के सब बन्दे एक नूर से सब जग उपजाया कौन भले कौन मन्दे . ( गौरी)