Posts

Showing posts from December, 2014

Does Bollywood Lost The Art Of Writing, Producing and Directing The Good Movies?

Does Bollywood Lost The Art Of Writing, Producing and Directing The Good Movies?
Writer Kamlesh Chauhan (Gauri)
Copyright@Kamlesh Chauhan (Gauri)
We all love Stars of Bollywood as well we all have some reservation about some stars.As a young teenager my mother never let me go to see the movies unless she seen new movies first so she can allow me which movie to watch which movie not to watch. I won’t lie to you my blog readers that I was happy with this decision of my mother. I tried to go with my friends to see the New Movies but I was caught and castigated for this disobedience.
Being married so young to a man who was older than me and have seen all the movies of my mother era. His choice of songs were all time favorite of my mother era. So I grew up watching old movies, old songs. Even my children love those songs and movies. Our USA born learn to appreciate Hindu Culture by watching all the TV series like Mahabharata, Ramayana. I saw Upkar, Purb Pachhim, Mugule Azam, Anarkali, Taj Mah…

"पाकिस्तान झुठ , फरेब और दहशत गर्दी से बाहर निकलो"

"पाकिस्तान  झुठ , फरेब  और दहशत  गर्दी  से बाहर  निकलो"

कमलेश चौहान (गौरी )
कॉपी राइट @कमलेश चौहान 


अगर तुमने अपने ही घर में साँप न पाले होते यह सोच कर कि तुम पड़ोसी के  घर में ज़हर फैला कर सांप से बच जायोगे यह तुम्हारा अपने दिमाग का वहम था।  आज भी यह जानते हुए कि तुमने जो कब्र भारत में और कश्मीर में खोदी थी वह कब्र तुम्हारी ज़मीन पर मासूम माँ के बेगुनाह बच्चो के लिये बन गयी।  हम कश्मीरी हिन्दू जानते है , हम कश्मीरी हिन्दू उन हिन्दू कश्मीरी हिन्दू माँ के दुख जानते है जिसके बच्चो का अपहरण कर के उनके एक एक अंग को काट कर दुनिया में उनकी तस्वीरें लेकर अंतराष्ट्रीय मंच पर भारत पर अपने जुर्म का आरोप लगाया।  तब तो न भारती सरकार न ही भारती मीडिया बोल सका।   यह हमारे मीडिया की कायरता कह लो या बिका हुआ  मीडिया कह लो  हम कश्मीरी हिन्दू ऐसे मीडिया और ऐसी सरकार से शर्मनाक है। लेकिन जिस भारत को तुमने इतने घाव दिये आज तुम्हारे वतन में मासूम बच्चो के शव को देखकर पुरा भारत रोया।  पुरा भारतीय मीडिया रोया।  एक एक भारती युवा तथा बच्चा बच्चा रोया।  लेकिन तुमने इससे क्या सीखा ? कुछ नही सीखा।  उल्टा अप…

Save the children of the world.: Kamlesh Chauhan(Gauri)

Save the children of the world.
Kamlesh Chauhan (Gauri)
I condemn the terrorist’s attacks anywhere in the world. USA keep on pouring money in Pakistan and those money does not go to poor people of Pakistan. It’s a responsibilities of citizen of Pakistan to root out the terrorists and terrorism from their soul.
Couple of days ago Saeed Hafiz have conference where he almost poisoned their people against India. I still don’t get it why Nawaz Sharif let that conference with took place on its soil? There are all the evidence India and USA gave to Nawaz Sharif but Pakistan played a dumb role in this regard.
Terrorism was sponsored in India from Pakistan which started from Punjab to Kashmir then we heard almost everywhere in the world. Pakistan still blaming India instead looking in to its own home and that’s they Tyranny of Pakistan. It’s time for Pakistan to ban all the terrorists’ trainings and Let India take care of Kashmir.People of Pakistan need Love, Peace and education to be part of pr…
क्या हिन्दू होना गुनाह हैं ?
लेखिका : कमलेश चौहान (गौरी )

कैलिफ़ोर्निया के एक सर्रीटोस के एक शहर की शाम  को सात बजे हज़ारों सवाल जाग्रति की ऐन. जी. ओ .के  अधिवेशन में आये लोगो ने  पूछे " क्या हिन्दु होना पाप है ? क्या हिंदुत्व देश को बांटता है ? क्या हिंदुस्तान को हिन्दुस्तान कहना गैर कानूनी है ?जब भी आता है लब पर हिन्दू नाम उसे संप्रदायिक क्यों कहा जाता? सबसे पहले  गायक रचना  ने देश भगती के गीतो से सभा के लोगो को अपने बिछड़े वतन भारत की याद दिलायी।  उसके बाद  डाक्टर गडसाली ने वन्दे मातरम के संगीत से श्रोतागणो को   मुग्ध  किया।  उसके बाद अपना माइक  मंच  प्रबंधक जैश पटेल को दिया।  जिन्होंने सभा के आने वाले  सभी लोगों का धन्यवाद किया।   हर्ष ध्रुव  जो  ओवरसीज बीजेपी के प्रधान है  उन्हों ने लोगो को बताया कि जाग्रति ने हमेशा भारत की एकता के लिये कुछ न कुछ कार्यक्रम किया है जब कश्मीर में हिन्दू लोगो के साथ जुल्म हो रहे थे तो १९९० में  हुए यह मिशन बनाया है कि " नो नेशन शुड भी  डिवाइडिड इन  दा नाम ऑफ़ रेस ऐंड  रिलिजन" उसके बाद उन्होंने अपना माइक  प्रबोधन डॉक्टर स्याल को दिया जिन्होंन…

Soldier's Soliloque - Kamlesh Chauhan(Gauri) "मेरे देश के जवानो का ठंडा जिस्म अपनों से बाते हुए कहता है।"

"मेरे देश के जवानो का ठंडा  जिस्म अपनों से बाते करते  हुए कहता है।" (कमलेश चौहान (गौरी ) 
मेरे देश वासियो मैं कवि नहीं हूं , मुझे कविता नहीं आती।  मेरे भारत वासियो  मै कोई उपन्यासकार नहीं मुझे कोई कहानी भी लिखनी नहीं आती।  जिस दिन मैंने जन्म लिया था भारत की भूमि पर  उसी दिन से अपना नाम शहीदों में लिख दिया था। 
मुझे जनम देने वाली जननी मेरी माँ , जब लायेंगे तिरंगे से लपेट कर मेरे बेजान जिस्म को तुम मझसे बाते करना , आँखों में आंसू मत लाना , तेरे आंसू मै पोंछ नहीं पायूँगा , माँ तेरी ही कोख़ में फिर बार बार जनम लुंगा , तू महान है मेरी माँ।  काश ! मेरा भारत करे दुश्मनो पर अब युद्ध का ऐलान , आतंकवादियों को  मत दो अपना बलिदान।  मेरे साथ जो कारवाँ  में आये है वह मेरे सिख भाई भी है , मुसलमान भाई भी है उनको भी दो अपना प्यार उनको भी दो मेरे जैसा सम्मान। फिर कहता हूं ,,
मेरी माँ , तू  है एक शहीद की माँ मेरा ठंडा जिस्म देख कर रोना मत।  मेरे माननीय पिता ,मेरे जिस्म के सुखी खुन के छीटों को देख रोना मत। 
कहना मेरी मासुम बहना को टुटा नहीं  तेरी राखी का धागा तेरे भाई की कलाई से।  मेरा भाई देश के लिये …